Featured

तेरे बगैर कहीं पर गुज़र नहीं

तेरे बगैर कहीं पर गुजर नही होता,
अकेली राह में हमसे सफ़र नही होता!!

सुनाते तब ही उसे हम भी अपने बारे में,+++

राष्ट्रीय वीररस कवि
संजय शुक्ला, कोटा राजस्थान, 9001098529 … Continue readingतेरे बगैर कहीं पर गुज़र नहीं

Share to: